यदि आपका सिबिल स्कोर (CIBIL score) अच्छा है तो आपको बैंक लोन बिना झिझक के दे देगा। बैंक ग्राहक के सिबिल स्कोर देखकर ही लोन ऑफर करता है यदि आपका सिबिल स्कोर अच्छा नहीं है तो बैंक आपको लोन देने से मना कर देता है। आज हम आपको बताने जा रहे हैं कुछ ऐसे टिप्स जिनके जरिए आप अपना सिबिल स्कोर बढ़ा सकते हैं .

CIBIL score kaise badhaye?

ये तो आप जानते ही होंगे की क्रेडिट स्कोर को ही सिबिल स्कोर कहा जाता है, और सिबिल स्कोर या क्रेडिट स्कोर 3 अंकों की संख्या होती है जो 300 से 900 के बीच होती है। ७०० से ज्यादा सिबिल स्कोर अच्छा माना जाता है. जब हम लोन अप्लाई करते है तो बैंक पहले हमारे पैन और आधार कार्ड से हमारा सिबिल स्कोर चेक करता है.

अब बात आती है सिबिल स्कोर बढाने की. इसे कैसे बढ़ाएं?

  • यदि आपने अभी तक क्रेडिट कार्ड नहीं लिया है. तो लें . यदि आपने कोई लोन या क्रेडिट कार्ड नहीं लिए तो स्कोर ० या -१ होगा.
  • क्रेडिट कार्ड लें. पर उसकी लिमिट कम इस्तेमाल करें . क्रेडिट का ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल करना उचित नहीं होता है, किसी भी व्यक्ति को क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल तभी करना चाहिए तब उसे इसकी बहुत ज्यादा जरूरत हो। ऐसा माना जाता है कि, आपके कार्ड की उपलब्ध क्रेडिट लिमिट का केवल 25% ही इस्तेमाल करना चाहिए। इसी प्रतिशत को क्रेडिट रिपोर्ट में शामिल किया जाता है जिससे आपके सिबिल स्कोर पर भी प्रभाव पड़ता है। बिल आने से पहले ही कुछ राशी एडवांस में जमा करें.
  • क़िस्त समय पर जमा करें यदि आप समय पर भुगतान नहीं करते हैं तो इसे डिफॉल्टर माना जाता है और यही रिकॉर्ड आपके क्रेडिट रिपोर्ट में भी दर्ज किया जाता है। इस तरह की खराब रिपोर्ट से आपका सिबिल स्कोर गिरने लगता है। यही वजह है कि, कंपनियां सही समय पर भुगतान करने की सलाह देती है।
  • यदि आपकी सिबिल में कोई गलत लोन आ रहा है. तो सिबिल की वेब साईट पर जाकर डिस्प्यूट डालें . उसे हटवाएं. जब आप सिबिल कंपनी में अपने क्रेडिट स्कोर को सुधारने के लिए आवेदन देते हैं तो सिविल कंपनी अपनी ओर से 30 दिनों के अंदर ही इसका जवाब दे देती है।
  • सिक्योर लोन ज्यादा लें. होम लोन और ऑटो लोन आपका सिबिल स्कोर बढ़ाएंगे लेकिन पर्सनल लोन नहीं. पर्सनल लोन १ तक ही सिमित रखें. १ से ज्यादा नहीं. यदि आप एक से अधिक अनसिक्योर्ड लोन लेते हैं तो इससे आपके सिबिल क्रेडिट की रेटिंग खराब होती है। इसलिए आप एक समय में दो अनसिक्योर्ड लोन लेने से बचें.
  • कभी भी लोन की क़िस्त ओवर ड्यू न होने दें. नहीं तो आपका सिबिल स्कोर घटेगा.
  • बार बार सिबिल चेक न कराएँ, इसकी भी वेटेज होती है. हालाँकि कम होती है.

अब बात आती है की कितना स्कोर अच्छा है. तो आप कोशिश करें कि, आपका सिबिल स्कोर 750 से कम ना हो। जितना अच्छा आपका सिबिल स्कोर होगा उतनी आसानी से आपको कर्ज मिल जाएगा।

कोई भी सवाल हो तो कमेंट करके पूछें. हम रिप्लाई करेंगे. हमने आपके लिए १८० से ज्यादा बैंकिंग विडियो बनाये है. जरुर देखें और डिजिटल बैंकिंग इंडिया चैनल से जुड़े रहे. https://www.youtube.com/channel/digitalbankingindia जय हिन्द.